उत्तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशराजनीतिराज्य

राष्‍ट्रपति चुनाव में विपक्षी खेमा बुरी तरह बंटा नज़र आया

राष्‍ट्रपति चुनाव में सपा गठबंधन साफतौर पर बिखरा दिखा। साथ ही सपा में क्रास वोटिंग की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। सपा के विधायक शिवपाल सिंह यादव ने जहां क्रास वोटिंग करते हुए द्रौपदी मुर्मू के लिए वोट किया। वहीं तीन अन्य विधायकों द्वारा क्रास वोटिंग किए जाने का अंदेशा है। इसी तरह सुभासपा के सभी विधायकों ने एनडीए के समर्थन में मतदान किया इसको लेकर भी संशय है।

हालांकि सभी विधायक ओमप्रकाश राजभर के साथ ही वोट डालने आए थे और सबने एक साथ अपना वोट डाला भी। पूरे चुनाव के दौरान दोनों पक्षों की ओर से अंतरात्‍मा की आवाज की दुहाई दी जाती रही। क्रास वोटिंग के अंदेशे वाली पार्टियों में जिम्‍मेदार नेता अब यह पता लगाने में जुटे हैं किस विधायक की अंतरात्‍मा ने क्‍या कहा और किसने कहां मतदान किया। दोनों मतपेटियां कड़ी सुरक्षा में दिल्ली ले जाई गईं।

सपा में हुई क्रास वोटिंग! समाजवादी पार्टी विधायक व प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव ने तो बकायदा ऐलान कर एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में मतदान किया। साथ ही सपा के विधायकों के समक्ष विपक्ष प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के पुराने बयान को मुद्दा बना कर उन्हें भी एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में आने का आह्वान किया। बताया जा रहा है कि इसके अलावा कम से कम तीन विधायक इस बात से प्रभावित हुए और उन्होंने यशवंत सिन्हा के बजाए द्रौपदी मुर्मू के पक्ष वोट दिया। सूत्र बताते हैं कि सपा के नेता यह पता करने में लगे हैं कि वास्तव में कितने विधायकों ने भाजपा पाले में जाकर वोट किया। कहा जा रहा है कि इनमें एक विधायक वह हैं, जिनके हाल में कारोबारी उपक्रम पर पुलिसिया कार्रवाई हो चुकी है।

Related Articles

Select Language »