दिल्ली

पिता के अंतिम संस्कार के लिए अकेली पड़ी बेटी, नहीं थे पैसे, पुलिस ने की मदद

दिल्ली-NCR में कोरोना का प्रकोप जारी है. इन सबके बीच दिलों को झकझोर देने वाली घटनाएं भी सामने आ रहीं हैं. ऐसी ही एक घटना नोएडा से सामने आई है, जहां 27 अप्रैल को नोएडा के सेक्टर 20 में रहने वाले 52 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई थी और घर मे केवल मां और बेटी ही मौजूद थीं, अंतिम संस्कार में कंधा देने तक के लिए कोई नहीं था, लिहाजा घर में कई घंटों तक शव पड़ा रहा और तो और मां बेटी के पास अंतिम संस्कार करने के लिए पैसे तक नहीं थे.

जैसे ही इस बात की सूचना नोएडा पुलिस को मिली तो सेक्टर 19 पुलिस चौकी इंचार्ज हरि सिंह पुलिस टीम के साथ मृतक के घर पर पहुंचे. एम्बुलेंस का प्रबंध किया गया और उसके बाद शव को श्मशान घाट ले जाया गया और पुलिस ने खुद चिता सजाई और मृतक की बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी. कोरोना के इस दौर में जब अपने भी साथ छोड़ दे रहें है तो ऐसे समय में चाहे दिल्ली पुलिस के जवान हों या नोएडा पुलिस के, वो न केवल कानून व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं बल्कि अर्थियों को कंधा देने से लेकर अंतिम संस्कार तक में मदद कर रहे हैं.

दिल्ली, नोएडा सहित देश में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं, इस वजह से श्मशान से लेकर अस्पतालों तक लाइन ही लाइन लगी हुई हैं. यूपी की हालत भी बदतर होती जा रही है. उत्तर प्रदेश में एक दिन में कोरोना से 265 लोगों की मौत हुई है. सबसे अधिक मौत लखनऊ में हुई हैं, लखनऊ में 39 लोगों ने दम तोड़ दिया.

Related Articles

Select Language »