देश

मुंबई में तीन दिनों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान पर लगा दी गई रोक, जानिए क्या है वजह?

एक मई से देशभर में शुरू होने वाले कोरोना टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। दरअसल, कई राज्य वैक्सीन की कमी से जूझ रहे हैं, जिसके चलते तीसरे चरण का अभियान प्रभावित हो सकता है। मुंबई में भी यही हाल है।

यहां कोरोना टीकों की इतनी कमी हो गई कि ग्रेटर मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (जीएमएमसी) को तीन दिनों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान पर रोक लगाने का फैसला लेना पड़ा। जीएमएमसी ने जानकारी दी है कि उसके पास टीके उपलब्ध नहीं हैं, इस कारण मुंबई में आज यानी शुक्रवार (30 अप्रैल) से रविवार (2 मई) के लिए टीकाकरण अभियान पर रोक लगा दी गई है। 

प्रशासन की अपील 
इधर, टीकाकरण रोके जाने की खबर के बाद प्रशासन ने अपील की है कि टीकाकरण केंद्रों के बाहर लोग जुटें नहीं और न ही किसी को भी घबराने की जरूरत है। प्रशासन ने आगे कहा जिन लोगों ने वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन किया है, उन सभी को टीका लगाया जाएगा। जीएमएमसी ने नोटिस जारी कर कहा, ‘अगर इन तीन दिनों के अंदर वैक्सीन की उपलब्धता हो जाती है तो लोगों को मीडिया और सोशल मीडिया के जरिये जल्द से जल्द सूचित कर दिया जाएगा।’

एडिशनल कमिश्नर ने किया ट्वीट
बीएमसी के एडिशनल कमिश्नर अश्विनी भिड़े ने वैक्सीनेशन को लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है कि 18 से 45 तक की उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन तभी शुरू किया जाएगा जब हमारे पास टीके का डोज ज्यादा मात्रा में उपलब्ध होंगे। बीएमसी टीकाकरण के नए चरण के लिए करीब 500 और सरकारी व निजी टीकाकरण केंद्रों को शुरू करेगा, यानी साफ है कि 45 से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण से कोई समझौता नहीं किया जाएगा और यह काम धीमा नहीं होगा।

इन राज्यों में कोरोना टीकों की है भारी कमी
बता दें कि महाराष्ट्र के अलावा पंजाब, दिल्ली, तमिलनाडु ने भी टीके की कमी की बात कही है। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने कहा कि वैक्सीनेशन का तीसरा फेज तभी शुरू हो सकेगा, जब राज्य को 10 लाख तक डोज दिए जाएंगे।

Related Articles

Select Language »