उत्तर प्रदेशटॉप न्यूज़देशराजनीतिराज्यसोशल मीडिया

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड की सदस्यता से भी जितेन्द्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को हटा दिया गया

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड की सदस्यता से भी जितेन्द्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को हटा दिया गया है। वक्फ संपत्तियों में भ्रष्टाचार के मामले में दोषी पाने के बाद शिया वक्फ बोर्ड उन्हें वक्फ संपित्तयों के मुतवल्ली पद से पहले ही बर्खास्त कर चुका है। बोर्ड की शिकायत के बाद राज्यपाल ने उनकी बोर्ड की सदस्यता भी रदद कर दी है।


रिमूवल की कार्यवाही से पहले ही जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी ने मंगलवार को बोर्ड की सदस्यता और वक्फ संपत्तियों मुतवल्ली पद से इस्तीफा दे दिया। बोर्ड के चेयरमैन ने सर्वसम्मति से इस्तीफे की कॉपी आगे की कार्यवाही के लिये शासन को भेज दी।उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के करीब 15 साल तक चेयरमैन रहे धर्म परिवर्तन से पहले वसीम रिजवी वर्तमान में जितेन्द्र नारायण त्यागी इस बार भी 21 वोट हासिल कर मुतवल्ली कोटे से वक्फ बोर्ड के सदस्य निर्वाचित हुये थे। हालांकि भारी विरोध के चलते वसीम रिजवी बोर्ड के चेयरमैन का चुनाव नही लड़े। नवगठित वक्फ बोर्ड ने भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर जांच शुरू जिसमें उन्हें दोषी पाया गया। इसी दौरान वसीम रिजवी ने अपना धर्म परिवर्तन करने का एलान कर दिया। इसके बाद वक्फ बोर्ड में उनकी सदस्यता को लेकर सवाल भी उठने शुरू हो गये।

Related Articles

Select Language »