कारोबारटॉप न्यूज़

रघुराम राजन ने कहा, कोरोना महामारी के प्रकोप से बेहाल हो चुकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने के लिए कड़वी दवा देना जरूरी

कोविड-19 के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट का प्रकोप जारी है और इस बार भी कोरोना के साये में देश का आम बजट पेश होने वाला है। आगामी 1 फरवरी 2022 को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी। इससे पहने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने वित्त मंत्री को आर्थिक ग्रोथ के लिए अहम सुझाव दिए हैं। उन्होंने कहा कि ग्रोथ के लिए पॉलिसी में बदलाव करने की जरूरत है।

रघुराम राजन ने कहा कि कोरोना महामारी के प्रकोप से बेहाल हो चुकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने के लिए कड़वी दवा देना जरूरी है। एक साक्षात्कार के दौरान उन्होंने घरेलू अर्थव्यवस्था की दशा और दिशा के बारे में कई बातें कीं। उन्होंने कहा कि हमें इंक्रेमेंटल बजटरी पॉलिसी के रास्ते पर चलना जल्द अब बंद करना होगा। इसका मतलब हर साल केंद्रीय बजट में अलग-अलग क्षेत्रों के लिए प्रस्तावों से है। उन्होंने यह भी कहा कि हमें सिर्फ मैन्युफैक्चरिंग और कृषि जैसे क्षेत्रों की फिक्र करने की सोच को बदलना होगा।

Related Articles

Select Language »