उत्तर प्रदेशटॉप न्यूज़दिल्लीदेशराज्य

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर खतरनाक, डॉक्टरों ने दी बुजुर्गों व बच्चों को बाहर न जाने की सलाह

पड़ोसी राज्यों में जल रही पराली व अन्य कारणों से दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। डॉक्टरों ने सुबह के समय बुजुर्गों व बच्चों को बाहर न जाने की सलाह दी है। साथ ही सांस के मरीजों को विशेष रूप से सतर्क रहने की चेतावनी दी है। शनिवार को दिल्ली में प्रदूषण स्तर 397 पहुंच गया, जो इस सीजन का सबसे अधिक स्तर है। जबकि एनसीआर में 350 से 400 के बीच प्रदूषण का स्तर रहा।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की माने तो आने वाले दिनों में भी प्रदूषण से कोई राहत की उम्मीद नहीं है। रविवार तक दिल्ली में वायु गुणवत्ता बेहद गंभीर श्रेणी में रहने की आशंका है। वहीं अगले दो दिनों में प्रदूषण के स्तर में और बढ़त हो सकती है। माना जा रहा है कि 31 अक्तूबर से 1 नवंबर तक दिल्ली में प्रदूषण स्तर रेड जोन में पहुंच जाएगा। रविवार और सोमवार को दिल्ली में उत्तर-पश्चिम/दक्षिण-पूर्व दिशा 8 किमी की स्पीड से हवाएं चल सकती हैं। सुबह के समय धुंध छाने की उम्मीद है। वहीं एक नवंबर को दिल्ली में पूर्वोत्तर दिशा से हवाएं आने की संभावना है, हवा की गति 8 किमी रह सकती है। बोर्ड के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में पिछले दो दिनों में पराली जलाने की घटनाएं तेजी से बढ़ी है जिससे प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। इसके अलावा स्थानीय कारणों से भी दिल्ली में प्रदूषण बढ़ रहा है।

Related Articles

Select Language »