उत्तर प्रदेश

कोविड : सीएम योगी के लिए एसजीपीजीआई में बेड आरक्षित, जरूरत पड़ी तो…

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए एसजीपीजीआई के राजधानी कोविड हॉस्पिटल में बेड आरक्षित कर दिया गया है। उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ी तो थर्ड फ्लोर के प्राइवेट रूम में भर्ती किया जाएगा। इस कमरे को पूरी तरह सुसज्जित कर दिया गया है। मालूम हो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और वे होम आइसोलेशन में हैं।

बता दें कि कोरोना संक्रमित होने के बावजूद सीएम योगी ने नवरात्र में उपवास जारी रखे हुए हैं। उन्होंने पूरे 9 दिन का उपवास रखा है। मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर ही आइसोलेट रहते हुए दिनचर्या पूरी कर रहे हैं। वह वर्चुअली सारा कामकाज निपटा रहे हैं। गुरुवार को भी उन्होंने करीब डेढ़ घंटे तक टीम-11 के अधिकारियों के साथ कोरोना के नियंत्रण की रणनीति पर विचार विमर्श किया। मुख्यमंत्री आवास पर डॉक्टरों टीम योगी के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखे हुए हैं।

भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार रोजमर्रा के शासकीय कार्यों को निपटाने के साथ साथ योगी संबंधित विभागों व आला अधिकारियों के साथ वर्चुअली संवाद करके कोरोना के खिलाफ लड़ाई की रणनीति भी तैयार कर रहे हैं। गुरुवार शाम को भी सीएम वरिष्ठ अधिकारियों से फोन पर बात करके कोरोना नियंत्रण के लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी प्राप्त करते रहे। उन्होंने अधिकारियों को किसी भी स्तर पर कोई कोताही न बरतने की सख्त हिदायत दी है।

इन्हीं व्यस्तताओं के बीच हर 2 घंटे पर मुख्यमंत्री के बुखार पल्स रेट, ब्लड प्रेशर व ऑक्सीजन लेवल का पूरा ब्यौरा तैयार कराया जा रहा है। डॉक्टर उनके स्वास्थ्य की सघन निगरानी कर रहे हैं। स्वास्थ्य परीक्षण की रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर उन्हें चिकित्सकीय परामर्श दे रहे हैं। मुख्यमंत्री अपने आवास पर आइसोलेशन में रहते हुए कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुसार उपचार करा रहे हैं। एहतियात के तौर पर एसजीपीजीआई में उनके लिए बेड भी आरक्षित करा दिया गया ताकि जरूरत पड़े तो उन्हें भर्ती कराया जा सके।

Related Articles

Select Language »