उत्तर प्रदेशटॉप न्यूज़दिल्लीदेशराजनीतिराज्य

गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव में अपने समीकरण कैसे साध रही आम आदमी पार्टी

पंजाब विधान सभा के सत्र का आज अंतिम दिन आम आदमी पार्टी के लिए काफी अहम है। विधानसभा में आज विश्वास प्रस्ताव पर बहस और मतदान दोनों होना है। पंजाब के इतिहास में यह दूसरी बार है जब सरकार विश्वास प्रस्ताव पर बहस करेगी। इससे पहले दरबाना सिंह के नेतृत्व में पंजाब विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाया गया था। यहां हम यह जानने की कोशिश करेंगे कि उस वक्त विश्वास प्रस्ताव का क्या परिणाम निकला था, इसके अलावा ये भी कि पंजाब में विश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराकर आम आदमी पार्टी गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव में अपने समीकरण कैसे साध रही है….

दरअसल, सीएम भगवंत मान ने भाजपा पर ऑपरेशन लोटस की साजिश रचने का आरोप लगाया और दावा किया कि उनकी पार्टी के विधायकों को खरीदने की कोशिश की गई। इसके बाद उन्होंने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव रखने की बात कही। हालांकि राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने इसपर अडंगा लगाया और कई कानूनी बाधाओं और संवैधानिक मुद्दों को उठाकर मान के प्रस्ताव पर ब्रेक लगा दिया। फिर किसी तरह हरी झंडी दिखी और किसी तरह आम आदमी पार्टी की सरकार 16वीं विधानसभा का सत्र बुलाने में सफल रही। बीती 27 सितंबर को मान सरकार ने सत्र में विश्वास प्रस्ताव पेश किया।

Related Articles

Select Language »