विदेश

ब्राजील : कोरोना वैक्सीन के लिए धरना प्रदर्शन पर बैठी वेश्याएं, बोलीं- ‘हम भी फ्रंटलाइन वर्कर्स’

दुनिया में शायद ही कोई देश कोरोना वायरस के संक्रमण से अछूता रहा होगा। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए वैक्सीन ही एकमात्र ऐसा विकल्प है, जो थोड़ी राहत दे सकता। ऐसे में हर किसी नागरिक का कोरोना वैक्सीन की खुराक ले लेना जरूरी बन जाता है। 

इसी सिलसिले में ब्राजील के दक्षिणपूर्व शहर बेलो होरिजोंटे में वहां की वेश्याएं एक सप्ताह के धरना प्रदर्शन पर बैठ गई हैं। इनकी मांग है कि कोरोना वायरस वैक्सीन की प्राथमिकता सूची में इनको भी शामिल किया जाए। महामारी के दौरान इन महिलाओं को भी कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ी। 

बता दें कि महामारी को देखते हुए होटल बंद कर दिए गए थे, जिस कारण शहर की हजारों वेश्याओं को अपनी सेवाएं देने के लिए किराए पर कमरे लेने पड़े। मिनास गैरेस राज्य के वेश्याओं के संघ की अध्यक्ष सीडा विएरा ने कहा कि हम फ्रंटलाइन में खड़े हैं, हम भी फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं और हम अर्थव्यवस्था चला रहे हैं, ऐसे में हम पर भी जोखिम की तलवार लटकी हुई है। 

उन्होंने आगे कहा कि हमें भी वैक्सीन की खुराक लेने की जरूरत है। विएरा अपनी साथी महिलाओं के साथ सोमवार को धरना प्रदर्शन करती नजर आईं। जहां ये वेश्याएं अपना व्यापार करती थीं, उस जगह पर महामारी की वजह से होटल बंद कर दिए गए हैं और उसी गली के बाहर ये धरना प्रदर्शन कर रही हैं। 

धरने पर बैठी एक वेश्या ने कहा कि हम प्राथमिक समूह का एक हिस्सा हैं क्योंकि हम हर दिन अलग-अलग लोगों से मुलाकात करते हैं और अपने जीवन को जोखिम में डालते हैं। महिला ने बताया कि सरकार ने पहले ही स्वास्थ्य कर्मचारियों, अध्यापकों, बुजुर्गों और पहले से बीमार लोगों को वैक्सीन लगाने के प्राथमिक समूह में शामिल किया हुआ है। 

बता दें कि ब्राजील में भी कोरोना की दूसरी लहर चल रही है हालांकि एक लाख जनसंख्या पर 121 मौते ही दर्ज की गई हैं, जो कि सबसे कम है। बता दें कि ब्राजील में कोरोना की वजह से 3,32,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका के बाद ब्राजील में सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है।

Related Articles

Select Language »